Bharat Ek Saath Hai – LYRICS | Sonu Sood | M Veer | T-Series

Bharat Ek Saath Hai LYRICS

Bharat Ek Saath Hai | Sonu Sood | M Veer | T-Series Lyrics

माना कि घनी रात है
इस रात से लड़ने के लिए पूरा भारत एक साथ है
तेरी कोशिश, मेरी कोशिश रंग लाएगी
मौत के इस मैदान में ज़िंदगी जीत जाएगी
फिर उसी भीड़ का हिस्सा होंगे
बस सिर्फ़ कुछ ही दिनों की बात है
माना ये घनी रात है, मगर पूरा भारत एक साथ है
इन ऊँची-ऊँची इमारतों
की छोटी-छोटी खिड़कियों में सपने बड़े हैं
फ़िलहाल सँभल, जान बचा
सड़कों पर तेरे-मेरे रखवाले खड़े हैं
फिर खुशियों का मौसम आएगा
पक्का अपना विश्वास है
माना कि घनी रात है
इस रात से लड़ने के लिए पूरा भारत एक साथ है
माना कि घनी रात है
कोई मौत से लड़कर ज़िंदगी बचा रहा है
कोई कचड़ा उठाकर भी ताली बजा रहा है
कोई खुद की परवाह किए बिना अपना फ़र्ज़ निभा रहा है
इंसानियत है सबसे पहले, ना कोई धर्म, ना जात है
माना घनी, काली रात है
माना घनी, काली रात है
मगर आज पूरा भारत एक साथ है
जिसने तेरा घर सँवारा आज वो खुद बेघर है
चल पड़ा है सड़क नापने, चेहरे पे शिकन, मन में डर है
आओ खोल दें अपने घर के दरवाज़े
कहें, “कुछ दिन बस यही तेरा घर है”
माना कि काली, घनी रात है
मगर पूरा भारत एक साथ है
________________________________________

Title – Bharat Ek Saath Hai
Singer of this song: – Sonu Sood
Lyrics: Sonu Sood
Music – M Veer
Mix and Mastered by Vishal Yash VY
Arranged and Programmed by M Veer

Director: Vicky Moge Wala
Writer and conceptualize – Sonu Sood and Vicky Moge Wala.
D.O.P – Vishal Yash VY
Editing – Rahul Gautam
Creation – Jass Verma
Special Thanks – Eshaan Sood
___________________________________

Bharat Ek Saath Hai | Sonu Sood | M Veer | T-Series

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *